वेंटिलेटर क्या है? वेंटिलेटर का इस्तेमाल क्यों किया जाता है? वेंटीलेटर की कीमत

वेंटिलेटर क्या है? वेंटिलेटर का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?
वेंटिलेटर क्या है? वेंटिलेटर का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

वेंटिलेटर क्या है? वेंटिलेटर का इस्तेमाल क्यों किया जाता है? वेंटीलेटर की कीमत – दोस्तों आज इस आर्टिकल में हम एक बहुत गंभीर मुद्दे पर चर्चा करने जा रहे हैं। आज इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे वेंटीलेटर क्या है? वेंटीलेटर का इस्तेमाल क्यों दिया जाता है? अगर आप ventilator के बारे में जानना चाहते हैं तो यह आर्टिकल आखिरी तक पूरा पढ़ें। इस आर्टिकल में हमने आपको वेंटीलेटर से जुड़ी संपूर्ण जानकारी देने की पूरी कोशिश की है

“पेशेंट की कंडीशन बहुत खराब है पेशेंट को वेंटीलेटर में रखना होगा” यह लाइन आपने कई बार सुनी होगी। जब भी आप हॉस्पिटल जाते हैं तो वहां पर आपको वेंटिलेटर शब्द सुनने को जरूर मिलता है। वर्तमान समय में भी सोशल मीडिया पर लोग वेंटीलेटर की कमी को लेकर ढेर सारे प्रश्न उठा रहे हैं। जब भी आप सोशल मीडिया ओपन करते हैं आपको वेंटीलेटर से जुड़ा कोई ना कोई पोस्ट देखने को मिल जाता है।

कोरोना काल में वेंटीलेटर की मांग दिन प्रतिदिन बढ़ती चली जा रही है। देश में वेंटीलेटर की कमी के कारण हजारों लोगों की प्रतिदिन मृत्यु हो रही है। ऐसे में हम सभी के मन में यह प्रश्न जरूर आता है आखिर वेंटीलेटर क्या है? और हमारे लिए वेंटिलेटर क्यों जरूरी है? वेंटीलेटर किस काम आता है ?

Read More – शारीरिक शिक्षा क्या है? शारीरिक शिक्षा का महत्व क्या है ?

अगर आप वेंटीलेटर के बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं। आप वेंटिलेटर के बारे में जानना चाहते हैं तो अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। नीचे हम आपको वेंटीलेटर से जुड़ी संपूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं।

वेंटीलेटर क्या है ?

अगर आप जानना चाहते हैं वेंटीलेटर क्या है? तो आपकी जानकारी के लिए बता दूं यह एक प्रकार की मशीन है। वेंटीलेटर का इस्तेमाल चिकित्सा क्षेत्र में किया जाता है। जब भी किसी व्यक्ति को सांस लेने में समस्या होती है तो उसे वेंटिलेटर की सहायता से सांस दिलाने में मदद की जाती है।

वेंटीलेटर मशीन के अंदर एक नली होती है। जिस व्यक्ति को सांस लेने में समस्या होती है उस व्यक्ति के गले में एक छोटा सा छेद किया जाता है। इस छेद के अंदर वेंटीलेटर की नली को लगाया जाता है। इसके पश्चात वेंटीलेटर से कृतिम ऑक्सीजन भेजी जाती है।

वेंटीलेटर का इस्तेमाल हमेशा उस सिचुएशन में किया जाता है जब किसी व्यक्ति को सांस लेने में समस्या होती है। वेंटीलेटर का मुख्य काम फेफड़ों तक ऑक्सीजन को पहुंचाना है।

वेंटीलेटर कैसे काम करता है ?

बहुत लोग जानना चाहते हैं वेंटीलेटर कैसे काम करता है। अगर आप जानना चाहते हैं वेंटीलेटर कैसे काम करता है? तो आपकी जानकारी के लिए बता दूं। वेंटीलेटर एक मशीन होती है। इस मशीन के पीछे एक ऑक्सीजन सिलेंडर फिट किया जाता है। Oxygen cylinder का डायरेक्ट कनेक्शन वेंटिलेटर से किया जाता है। वेंटिलेटर पर एक पतली सी नली फिट होती है।

जिस व्यक्ति के फेफड़े सही तरह से काम नहीं करते इस व्यक्ति के गले मुंह या फेफड़ों के ऊपर एक छोटा सा कट लगाया जाता है। इस कट में वेंटीलेटर से जुड़ी नली को डाला जाता है। यह नली शरीर के अंदर ऑक्सीजन पहुंचाने में मदद करती है जिससे पेशेंट को सांस लेने में आसानी रहती है।

Read More – फेसबुक सीक्रेट कन्वर्सेशन क्या है? मैसेज भेजते ही गायब कैसे करें ?

वेंटिलेटर में एक स्क्रीन होती है। यह स्क्रीन ऑक्सीजन लेवल को मॉनिटर करती है। स्क्रीन की रीडिंग को देखकर आप पता कर सकते हैं कि पेशेंट के शरीर में कितना ऑक्सीजन पहुंच रहा है।

वेंटीलेटर के प्रकार

वेंटीलेटर के अनेक प्रकार होते हैं। वेंटीलेटर के कुछ प्रमुख प्रकार के बारे में नीचे बताया गया है।

नेगेटिव प्रेशर वेंटीलेटर

यदि हम आम तौर पर देखें तो नेगेटिव प्रेशर वेंटीलेटर का इस्तेमाल बहुत कम किया जाता है। सिर्फ कुछ ही परिस्थितियों में नेगेटिव प्रेशर वेंटीलेटर का इस्तेमाल किया जाता है। नेगेटिव प्रेशर वेंटीलेटर का इस्तेमाल उस परिस्थिति में किया जाता है जब रोगी कार्बन डाइऑक्साइड गैस रिलीज नहीं कर पाता। जब किसी के शरीर से कार्बन डाइऑक्साइड गैस बाहर नहीं जाती तो उसकी छाती पर नेगेटिव प्रेशर वेंटीलेटर का पाइप रखते हैं। इससे पेशेंट का शरीर बार-बार हवा में ऊपर उठता है तथा नीचे गिरता है। इससे कार्बन डाइऑक्साइड गैस बाहर निकलने लगती है।

पॉजिटिव प्रेशर वेंटीलेटर

आम तौर पर देखा जाए तो पॉजिटिव प्रेशर वेंटीलेटर का इस्तेमाल सबसे अधिक किया जाता है। पॉजिटिव प्रेशर वेंटीलेटर का इस्तेमाल उस परिस्थिति में किया जाता है जब कोई व्यक्ति सही तरह से सांस नहीं ले पाता। पॉजिटिव प्रेशर वेंटीलेटर ऑक्सीजन को पहुंचाने में मदद करते हैं।

वेंटिलेटर की कीमत

बहुत से लोग ventilator की कीमत के बारे में जानना चाहते हैं। दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता दूं। कोई भी व्यक्ति हमेशा के लिए वेंटीलेटर नहीं खरीदता, क्योंकि इसकी आवश्यकता बहुत कम पड़ती है। वेंटिलेटर अस्पताल में आसानी से उपलब्ध रहते हैं। अगर आपको वेंटीलेटर की आवश्यकता है तो आप किराए में वेंटीलेटर खरीद सकते हैं किराए में वेंटीलेटर लेने पर आपको प्रतिदिन का ₹4000 से ₹5000 तक चार्ज देना होगा।

एक नए ventilator की कीमत लगभग ₹500000 होती है। यदि आप अधिक सुविधाओं वाला वेंटीलेटर लेना चाहते हैं तो आपको कुछ ज्यादा पैसे खर्च करने होंगे। यदि आप पर विदेश से वेंटिलेटर मंगाना चाहते हैं तो आपको लगभग ₹700000 तक खर्च करने होंगे।

निष्कर्ष

आज इस आर्टिकल में हमने आपको वेंटीलेटर के बारे में बताया। हमने आपको बताया वेंटिलेटर क्या है? वेंटीलेटर का इस्तेमाल क्यों किया जाता है? वेंटीलेटर कितने प्रकार के होते हैं? वेंटीलेटर की कीमत कितनी होती है? आशा करता हूं यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी है इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें। आर्टिकल को आखिरी तक पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*